बुधवार, दिसंबर 18

क्रिसमस उसकी याद दिलाता

क्रिसमस उसकी याद दिलाता



क्रिसमस उसकी याद दिलाता
जो भेड़ों का रखवाला था,
आँखें करुणा से नम रहतीं
मन जिसका मद मतवाला था !

जो गुजर गया जिस घड़ी जहाँ
फूलों सी महकीं वे राहें,
दीनों, दुखियों की आहों को
झट भर लेती उसकी बाहें !

सुन यीशू के उपदेश अनोखे
 भीड़ एक पीछे चलती थी,
भर अधिकार से कहते थे वह
 चकित हुई सी वह गुनती थी !

नहीं रेत पर महल बनाओ  
जो पल भर में ही ढह जाते,
चट्टानों पर नींव पड़ी तो  
गिरा नहीं सकतीं बरसातें !

यहाँ मांगने से मिलता है
 खोला जाता है यह द्वार,
ढूंढेगा जो, पायेगा ही
प्रभु लुटाने को तैयार !

कितने रोगी स्वस्थ हुए थे
अनगिन को दी उसने आशा,
तूफानों को शान्त किया था
अद्भुत थी जीसस की भाषा !

प्रभु के प्यारे पुत्र कहाते
जन-जन की पीड़ा, दुःख हरते,
एक बादशाह की मानिंद वे
संग शिष्यों के डोला करते !

जो कहते थे, पीछे आओ
सीखो तुम भी मानव होना,
हूँ पुत्र प्रिय परमेश्वर का 
मैं जानता मार्ग स्वर्ग का !

संकरा है वह द्वार प्रभु का
 उससे ही होकर जाना है,
यीशू ने जो बात कही थी
 आज उसे ही दोहराना है ! 

19 टिप्‍पणियां:

  1. सटीक -
    सुन्दर -
    युगपुरुष को नमन -
    बधाई आदरणीया-

    उत्तर देंहटाएं
  2. काफी उम्दा.....सुंदर....
    कभी मेरे ब्लॉग पर भी पधारे....
    काफी सुंदर चित्रण ..... !!!
    कभी हमारे ब्लॉग पर भी पधारे.....!!!
    खामोशियाँ

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. स्वागत है राहुल जी, आपका ब्लॉग देखा, अच्छा लगा.

      हटाएं
  3. sundar rachna ..............prabhu ki mahima aprampar .................

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. संध्या जी, आपने सही कहा है आभार !

      हटाएं
  4. प्रभु का एहसास हर जगह है ...
    वो कण कण में है ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. स्वागत है दिगम्बर जी, वाकई प्रभु हर पल हमारे साथ है

    उत्तर देंहटाएं
  6. वाह ! वाह बहुत ही सुन्दर मसीह का आगमन शुभ हो |

    उत्तर देंहटाएं
  7. यीशु के जीवन चरित को उजागर करता काव्य चित्र।

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल रविवार (22-12-2013) को "वो तुम ही थे....रविवारीय चर्चा मंच....चर्चा अंक:1469" पर भी है!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!!

    - ई॰ राहुल मिश्रा

    उत्तर देंहटाएं
  9. इमरान, वीरू भाई, कालीपद जी, ओंकार व माहेश्वरी जी आप सभी का स्वागत व आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  10. क्रिस्मस की हार्दिक शुभकामनाएँ!

    कल 25/12/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  11. क्रिसमस पर सुन्दर रचना
    ..क्रिसमस की हार्दिक शुभकामना!

    उत्तर देंहटाएं