रविवार, जनवरी 26

गणतन्त्र दिवस पर हार्दिक शुभकामनायें

गणतन्त्र दिवस पर हार्दिक शुभकामनायें


अमृत बरसे है अम्बर से
सूर्य देव को करें प्रणाम,
धरती पर नदियाँ, झीलें
पुण्य धरा सींचें दिन-याम !

संतों की है दीर्घ श्रंखला
 परम सत्य भी यहीं मिला,
योग-संख्य, वेदांत अनूठे
पुष्प भक्ति का यहीं खिला !  

हिम पर्वत से धुर दक्षिण तक
सदियों से गुंजित हैं गान,
धन्य-धन्य स्वयं को मानें हम
भारत की जो हैं सन्तान !

अद्भुत भाषाएँ, बोलियाँ
वेश, खाद्य भी हैं अनगिन,
एक सूत्र बाँधें है सबको
एक भाव बहता निशदिन !

वीर बाँकुरे भारत भू के
सीमाओं पर हैं तैनात,
खलिहानों में कृषक चेतना
श्रम अकूत करती दिन-रात !

उत्सव आज मनाएं मिलकर
सुखमय हो यह विश्व कुटुंब,
गणतन्त्र दुनिया का अनोखा
जहाँ वंशी, गीता व कदम्ब !

लहर उठी है अब क्रांति की
जाग उठा है हर इक जन,
भारत की आत्मा प्रमुदित है
पुलकित है हर जन गण मन !


9 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया प्रस्तुति-
    शुभकामनायें गणतंत्र दिवस की-
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  2. ब्लॉग बुलेटिन टीम की ओर से आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएँ |

    जय हिन्द ... जय हिन्द की सेना ||

    ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन गणतंत्र दिवस और ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपको भी बहुत शुभकामनाएं ..... जय हिन्द |

    उत्तर देंहटाएं
  4. बढ़िया प्रस्तुति-
    शुभकामनायें गणतंत्र दिवस की-

    उत्तर देंहटाएं
  5. गणतंत्र दिवस पर भारत गान की मनमोहक प्रस्तुति।
    भारतोत्सव पर हार्दिक बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर रचना...आभार...

    उत्तर देंहटाएं
  7. रविकर जी, इमरान, किरन जी, माहेश्वरी जी, कैलाश जी व ललित जी आप सभी का स्वागत व आभार !

    उत्तर देंहटाएं