सोमवार, जनवरी 13

मकर संक्रांति पर शुभकामनायें




मकर राशि में सूर्य का हो रहा प्रवेश
संक्रांति काल लेकर आया पर्व विशेष !

उत्तर में खिचड़ी कहें दक्षिण में है पोंगल
लोहड़ी जो पंजाब में असम में बीहू मंगल !

लकड़ी का एक ढेर हो शीत मिटाए आग
बैर कलुष जल खाक हों पर्व मनायें जाग !

मीठे गुड में तिल मिले नभ में उड़ी पतंग
लोहड़ी की इस आ ने दिल में भरी उमंग !

दाने भुने मकई के भर रेवड़ियाँ थाल
अंतर में उल्लास हो चमकें सबके भाल !

15 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर !
    मकर संक्रांति की शुभकामनाएं !
    नई पोस्ट हम तुम.....,पानी का बूंद !
    नई पोस्ट लघु कथा

    उत्तर देंहटाएं

  2. देश को एकता के सूत्र में पिरोती प्रस्तुति

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुन्दर प्रस्तुति-
    आपका आभार-
    मकर-संक्रान्ति की मंगलकामनाएं -

    उत्तर देंहटाएं
  4. आज के दिन का महत्त्व समझाती ... लाजवाब रचना ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. काफी उम्दा प्रस्तुति.....
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल मंगलवार (14-01-2014) को "मकर संक्रांति...मंगलवारीय चर्चा मंच....चर्चा अंक:1492" पर भी रहेगी...!!!
    - मिश्रा राहुल

    उत्तर देंहटाएं
  6. मकर संक्रान्ति की हार्दिक शुभकामनाएँ।
    --
    आपको ये जानकर अत्यधिक प्रसन्नता होगी की ब्लॉग जगत में एक नया ब्लॉग शुरू हुआ है। जिसका नाम It happens...(Lalit Chahar) है। कृपया पधारें, आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | आपके नकारत्मक व सकारत्मक विचारों का स्वागत किया जायेगा | सादर ..... आभार।।

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुन्दर
    मकर संक्रान्ति की शुभकामनाएं !
    नई पोस्ट हम तुम.....,पानी का बूंद !
    नई पोस्ट बोलती तस्वीरें !

    उत्तर देंहटाएं
  8. मकर-संक्रान्ति की मंगलकामनाएं -

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सुन्दर...मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  10. मकर संक्रांति की ढेरों बधाइयां ....एक साथ कई पर्वों का संगम ...सर्वधर्म समभाव का संदेश देता ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. मकर संक्रांति के अवसर पर बहुत सुंदर प्रस्तुति। पूरब पश्चिम उत्तर, दक्षिण सारे भारत के संक्रंति पर्व आ गये आपकी इस कविता में।

    उत्तर देंहटाएं
  12. कालीपद जी, दिगम्बर जी, रविकर जी, वीरू भाई, आशा जी, सूर्यकांत जी, कैलाश जी, राहुल जी, संजय जी, ललित जी, आप सभी का स्वागत व आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत प्यारी कविता है
    REVERSE YOUR AGE 25 years ago ,BE YOUNG physically&mentally.from HALDI RASAYAN & NIRGUNDI RASAYAN.-www.merasamast.in (only aayurwed)

    उत्तर देंहटाएं
  14. मकर संक्रांति की हार्दिक मंगलकामनाएं! त्यौहार हमारी सभ्यता -संस्कृति की अमूल्य धरोहर हैं। भारत विविधताओं से भरा देश है जिस पर हमें गर्व है। त्यौहार हमारी राष्ट्रीयता की भावना का विकास करते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  15. एकता के धागे पिरोती रचना।


    रवीन्द्र सिंह यादव

    ब्लॉग -1. https://hindilekhanmeridrishti.blogspot.com

    2. https://hamaraakash.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं