रविवार, सितंबर 4

आज शिक्षक दिवस है



एक विद्यार्थी और शिक्षक का सम्बन्ध अन्य सामाजिक सम्बन्धों की तरह किसी स्वार्थ पर नहीं टिका होता, वह विश्वास, प्रेम और ज्ञान के तंतुओं से बुना होता है... प्रस्तुत है एक संवेदनशील विद्यार्थी की डायरी से अपनी  शिक्षिका की कुछ स्नेहिल स्मृतियों पर आधारित एक रचना.

शिक्षक दिवस पर

शांत जल पर धीरे-धीरे तिरती नाव की तरह
कक्षा आगे बढती जाती है...
ब्लैक बोर्ड पर टिकी है दृष्टि
कान सुनते हैं .... कलम चलती है
और कहीं मध्य में इन सबके
आंखें उनके चेहरे पर
ममतामयी माँ की झलक देख ही लेती हैं...

.....कभी न कह पाए हों उनसे
किन्तु निज पीड़ा के क्षणों में
उन कंधों पर ही सर रखकर क्या नहीं रोये हैं....

ऊपर से कठोर बनने की कोशिश करतीं
अंदर से फूल की तरह कोमल
स्नेह की खुशबू फैलाती हुईं....
कई बार टूटते मनोबल का सहारा दिया है
उनके ओजस्वी शब्दों ने ...

अविरल भाषा प्रवाह, अनुशासन
और कभी अप्रत्याशित छूट
तब कहाँ सोचा था कि कभी याद आएँगी
इधर-उधर भटकने से रोकेंगी वे नसीहतें...
और एक प्यारी सी मुस्कान
राह दिखाएगी, सहलाएगी
सदा जीवन की अनजानी पगडंडियों पर !

जो भी कहना चाहता था मन
सही-गलत, सार्थक-अर्थहीन
सभी कुछ बेझिझक कहा है उनसे
कक्षा में उठते अजीबोगरीब सवाल और
लम्बी-लम्बी बहसें... याद आती हैं उनकी बातें
फिर गोल चेहरे पर
सहज आ जाती दपदप हंसी
जैसे चेहरे का ही भाग हो....

आए थे सहमे-सहमे
ढूंढते स्वयं को
खोजते पहचान निज की,
नए अनुभवों ने किया भी  
वांछित व्यवहार परिवर्तन !
समझ सकते हैं अब खुद को बेहतर
मूल्यों और आदर्शों की पृष्ठभूमि में
लिए कई सपने और आशाएं मन में....
एक शिक्षक का काम सपने दिखाना भी तो है !




7 टिप्‍पणियां:

  1. एक शिक्षक का काम सपने दिखाना भी तो
    सही कहा अनीता जी बहुत सुन्दर व् भावपूर्ण अभिव्यक्ति बधाई .
    श्रमजीवी महिलाओं को लेकर कानूनी जागरूकता.

    उत्तर देंहटाएं
  2. गहन ...अर्थ पूर्ण..आस्था पूर्ण ..संवेदनशील ..बहुत सुंदर अभिव्यक्ति .....!!
    shubhkamnayen...

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह आपने तो गज़ब का खाका खींचा है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. ऊपर से कठोर बनने की कोशिश करतीं
    अंदर से फूल की तरह कोमल
    स्नेह की खुशबू फैलाती हुईं....
    कई बार टूटते मनोबल का सहारा दिया है
    उनके ओजस्वी शब्दों ने ...



    बहुत ही प्रभावी प्रस्तुति ||
    सादर अभिनन्दन ||

    उत्तर देंहटाएं
  5. गहन अभिव्यक्ति ..शिक्षक दिवस की शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  6. शिक्षक का काम सपने दिखाना और उन्हें पूरा करने की सही राह दिखाना भी है !
    सार्थक अभिव्यक्ति!

    उत्तर देंहटाएं