रविवार, अगस्त 11

गगन अपना लगेगा जगेंगी पाँखें

गगन अपना लगेगा जगेंगी पाँखें



अभावों का भाव नजर आता है
भावों का अभाव खले जाता है,
‘नहीं है’ जो, टिकी उस पर दृष्टि  
जो ‘है’, कोई देख नहीं पाता है !

जगे, पर सोने का अभिनय करते
नित नूतन रंग सपनों में भरते,
जानते, पल दो पल का भ्रम ही है
सामना सत्य का करने से डरते !

जागे हुओं को जगाना है मुश्किल
पानी से तेल नहीं होता हासिल,
फिर भी कोशिश किये जाते हैं वे  
दूर निकले जो कैसे पायें साहिल !

कभी तो होश आएगा खुलेंगी आँखें
गगन अपना लगेगा जगेंगी पाँखें,
देर न हो जाये बस डर यही है
रिस रहा जीवन हैं लाखों सुराखें !





11 टिप्‍पणियां:

  1. जागे हुओं को जगाना है मुश्किल
    पानी से तेल नहीं होता हासिल,
    फिर भी कोशिश किये जाते हैं वे ...

    कोशिश अनादी काल तक करना व्यर्थ है ऐसे लोगों पर ...
    सार्थक लिखा है ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. रिस रहा जीवन हैं लाखों सुराखें !

    सच!

    उत्तर देंहटाएं
  3. अभावों का भाव नजर आता है
    भावों का अभाव खले जाता है,
    ‘नहीं है’ जो, टिकी उस पर दृष्टि
    जो ‘है’, कोई देख नहीं पाता है !

    भ्रम मे पड़ा प्राणी .......
    बहुत सुंदर लिखा है ....बहुत ही सुंदर ....!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. जगे, पर सोने का अभिनय करते
    नित नूतन रंग सपनों में भरते,
    जानते, पल दो पल का भ्रम ही है
    सामना सत्य का करने से डरते !--
    अभिनय करने वालों में सच का सामना करने की हिम्मत कहाँ होती है ?
    latest post नेताजी सुनिए !!!
    latest post: भ्रष्टाचार और अपराध पोषित भारत!!

    उत्तर देंहटाएं
  5. सार्थक रचना.जागे को क्या जगाना सही कहा....बहुत सुन्दर..

    उत्तर देंहटाएं
  6. जागे हुओं को जगाना है मुश्किल
    पानी से तेल नहीं होता हासिल,
    फिर भी कोशिश किये जाते हैं वे
    दूर निकले जो कैसे पायें साहिल !

    सटीक और सार्थक रचना ।

    उत्तर देंहटाएं

  7. बहुत सुन्दर है आँखें खोलने वाला है। समय की कद्र कर समय तेरी करेगा औसर बीता जाय।

    उत्तर देंहटाएं
  8. कभी तो होश आएगा खुलेंगी आँखें
    गगन अपना लगेगा जगेंगी पाँखें,
    देर न हो जाये बस डर यही है
    रिस रहा जीवन हैं लाखों सुराखें !

    अद्भुत लेखन.

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत खुबसूरत रचना अभिवयक्ति.........

    उत्तर देंहटाएं
  10. वाह बहुत बढ़िया । गहन, सुन्दर , शानदार |

    उत्तर देंहटाएं
  11. आप सभी सुधी पाठकों का आभार !

    उत्तर देंहटाएं