रविवार, जुलाई 10

उन सब बच्चों को समर्पित, जिनका आज जन्म दिन है और जो घर से दूर हैं !

प्रिय पुत्र के जन्मदिवस पर


तुम आये जीवन में जिस पल
जगमग मन में हुआ उजाला,
अपने ही तन की माटी से
गढ़ डाला जब रूप निराला !

उस नन्हें तन के भीतर से  
तुम झांक रहे जैसे गोपाला,
सुंदर मुखड़े से नित अपने
सबको मोहित कर डाला !

बालक हुए किशोर बने तुम
बड़े प्रेम से हमने पाला,
युवा हुए हो, दूर गए अब
घर को सूना कर डाला !

है जोश और धैर्य अनोखा
और भ्रमण का शौक बड़ा,
हो एकांत प्रिय, तुम मौनी
अंतर है मजबूत गढ़ा !

जीवन में कुछ पाना तुमको
तुच्छ नहीं वह श्रेष्ठ धर्म हो,
सुख आनंद से खिले रहो तुम
सदा सुघड़ तुमसे हर कर्म हो !
   


14 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति ||
    बहुत बधाई ||

    उत्तर देंहटाएं
  2. बालक हुए किशोर बने तुम
    बड़े प्रेम से हमने पाला,
    युवा हुए हो, दूर गए अब
    घर को सूना कर डाला !
    यह तो मर्मस्पर्शी बात हो गयी , चलिए आपके पुत्र और वह सभी जिनका जन्म दिन आज है उनको ढेर सारी शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  3. पुत्र के जन्मदिन पर आपको बधाई और बेटे को शुभकामनायें ...

    बहुत अच्छे सीख देती हुई रचना का सुन्दर उपहार

    उत्तर देंहटाएं
  4. जन्‍मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (11-7-2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

    http://charchamanch.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  6. युवा हुए हो, दूर गए अब
    घर को सूना कर डाला !
    मन को छूने वाली पंक्तियां
    सरस और गेय कविता।
    बेटे को जन्म दिन की शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  7. जीवन में कुछ पाना तुमको
    तुच्छ नहीं वह श्रेष्ठ धर्म हो,
    सुख आनंद से खिले रहो तुम
    सदा सुघड़ तुमसे हर कर्म हो
    bahut shreshth kriti hai aapki ye.badhai.

    उत्तर देंहटाएं
  8. जीवन में कुछ पाना तुमको
    तुच्छ नहीं वह श्रेष्ठ धर्म हो,
    सुख आनंद से खिले रहो तुम
    सदा सुघड़ तुमसे हर कर्म हो !
    bahut khub
    bete ke jamdin ki badhai
    saader
    rachana

    उत्तर देंहटाएं
  9. जीवन में कुछ पाना तुमको
    तुच्छ नहीं वह श्रेष्ठ धर्म हो,
    सुख आनंद से खिले रहो तुम
    सदा सुघड़ तुमसे हर कर्म हो !

    Sunder Vicharon ki saugat liye rachana...... Shubhkamnayen Apke bete ko....

    उत्तर देंहटाएं
  10. है जोश और धैर्य अनोखा
    और भ्रमण का शौक बड़ा,
    हो एकांत प्रिय, तुम मौनी
    अंतर है मजबूत गढ़ा !इसमें तो कोई शक नही.
    जन्मदिन की ढेरों शुभ कामनाएं गुड्डू सहित सभी को.

    उत्तर देंहटाएं
  11. इससे बेहतर और क्या तोहफा हो सकता है जन्मदिन का.......हमारी ओर से भी हार्दिक शुभकामनायें |

    उत्तर देंहटाएं
  12. humari aur se bhi aapke putra ko janmdin ki dheron badhaai.bahut achchi vatsalya ras ki kavita likhi hai.aapke blog par charcha manch ke madhyam se panhuchi.aana sarthak raha.

    उत्तर देंहटाएं
  13. mujhe chaye bhakti ras,raudra ras,shant ras veebhtsa ras,bhayanak ras,adbhut ras,karuna ras, ki kavita chaiye plz send my email id.sarjeel.faki@gmail.com.jo bhartiye sahitya mein 9 ras total 9 raso ki kavita chaiye plz send

    उत्तर देंहटाएं