मंगलवार, जुलाई 26

अर्थहीन


पिछले दिनों नार्वे में जो नरसंहार हुआ उससे पूरा यूरोप ही नहीं सारा विश्व स्तब्ध है. हिंसा का यह तांडव जल्द से जल्द थमना चाहिए...


अर्थहीन

मरना यदि होशोहवास में हो
नातेरिश्तेदारों के मध्य,
एक पूरी उम्र जी लेने के बाद
तभी सार्थक होती है मृत्यु..

यदि बिना कहे चली आये
किसी की गोली पर सवार,
बनाये किसी साजिश का शिकार
तो हत्या होती है,
और हत्या सदा अर्थहीन होती है..

यह अर्थहीन हत्या
डोल रही है
इस धरती पर
हर मुल्क में
जिसका चेहरा इतना विकृत है
कि पहचाना नहीं जाता
बहुरूपिये सी रूप बदल लेती है
यह अर्थहीन  हत्या....




14 टिप्‍पणियां:

  1. शानदार प्रस्तुति, बधाई ||

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी रचना आज तेताला पर भी है ज़रा इधर भी नज़र घुमाइये
    http://tetalaa.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्‍छी रचना। आपने कहा है हत्‍या सदा अर्थहीन होती है। यह अतिमानवीय दृष्टिकोण है जो अच्‍छा है पर व्‍यावहारिक नहीं। मेरा सोचना है कि यह इस पर भी निर्भर करता है कि किसकी हत्‍या। मसलन, किसी खूँखार अपराधी को फॉंसी की सजा मिलना भी एक प्रकार की हत्‍या है। नार्वे में जिसने यह नरसंहार किया, यदि उसे फॉंसी दी जाये तो यह प्रकार की हत्‍या ही होगी लेकिन न्‍यायसंगत।

    उत्तर देंहटाएं
  4. मैं तो आपके विषय चयन पर मुग्ध हूँ. सुन्दर रचना

    उत्तर देंहटाएं
  5. बिल्कुल सही कहा आपने दोस्त कि .......यह अर्थहीन हत्या
    डोल रही है
    इस धरती पर
    हर मुल्क में
    जिसका चेहरा इतना विकृत है
    कि पहचाना नहीं जाता
    बहुरूपिये सी रूप बदल लेती है
    यह अर्थहीन हत्या....
    हाँ सच मैं तभी इसका रूप इतना विकृत है बहुत सुन्दर सोच दोस्त जी :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. यदि बिना कहे चली आये
    किसी की गोली पर सवार,
    बनाये किसी साजिश का शिकार
    तो हत्या होती है,
    और हत्या सदा अर्थहीन होती है..

    सच कहा .. पता नहीं कौन सा अर्थ पाना चाहते अहिं ये आतंकवादी ऐसी हरकतों से ... संवेदनशील रचना है ...

    उत्तर देंहटाएं
  7. सही बात है हत्या ही है यह मानवता की.......सुन्दर पोस्ट|

    उत्तर देंहटाएं
  8. घनश्याम मौर्य जी, आपने कहा कि फांसी भी हत्या है और आवश्यक है, लेकिन फांसी से न तो वे मृत पुनः जीवित हो सकते हैं न ही भविष्य में आने वाली हिंसा थम सकती है, क्योंकि उसके लिये तो लोगों की सोच में बदलाव आना जरूरी है, तो अर्थहीन ही होगी यह फांसी भी.

    उत्तर देंहटाएं
  9. sundar

    लिकं हैhttp://bachpan ke din-vishy.blogspot.com/
    अगर आपको love everbody का यह प्रयास पसंद आया हो, तो कृपया फॉलोअर बन कर हमारा उत्साह अवश्य बढ़ाएँ।

    उत्तर देंहटाएं