बुधवार, सितंबर 14

हिंदी या हिंग्लिश


हिंदी या हिंग्लिश


हिंदी दिवस पर अंग्रेजी में ट्वीट करते लोग

 हिंदी प्रेम होने का दम भरते हैं 

हिंदी के एक वाक्य में 

बस दो-चार अंग्रेजी के शब्द मिलाते 

मॉर्निंग में वाक और इवनिंग को योगा करते हैं 

आँख, नाक, कान से पहले 

जान जाता है शिशु आइज, नोजी और इयर

नौनिहालों को अंग्रेजी में झगड़ते देख 

भीतर तक निहाल होते हैं 

दीवाली और होली तो हैप्पी थी ही 

अब कहीं हिंदी दिवस भी 

हैप्पी बोल देने तक ही सीमित न हो जाये 

अंग्रेजी का जो जादू सर पर चढ़ा है 

नई पीढ़ी को अपनी जड़ों से दूर न ले जाये 

हिंदी फल-फूल रही है अपने बूते पर 

सर्व को ग्रहण करती है 

शुद्ध रहे, हमें रखना है ध्यान 

दिल बहुत विशाल है उसका 

कैसा भी रूप धरे वह हिंदी 

ही कही जाती है !

8 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 15.9.22 को चर्चा मंच पर चर्चा मंच - 4552 में दिया जाएगा
    धन्यवाद
    दिलबाग

    जवाब देंहटाएं
  2. वर्तमान संवाद का कितना सटीक चित्रण किया है। आने वाला समय और क्या दिखाता है पता नहीं। हार्दिक शुभकामनाएँ।

    जवाब देंहटाएं
  3. बहुत ही सारगर्भित रचना ।
    मन को छू गई ।हिंदी को लेकर आज का यथार्थ जीवंत कर दिया आपने । ऐसे दृश्य देख मन बड़ा दुखी होता है ।
    हिंदी दिवस की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपको भी हिंदी दिवस की शुभकामनायें !

      हटाएं
  4. सामायिक चिंतन।
    आपका आशावादी दृष्टिकोण बहुत अच्छा लगा।
    हिन्दी दिवस पर हार्दिक शुभकामनाएं।

    जवाब देंहटाएं