शुक्रवार, दिसंबर 9

नए इरादे फिर करने हैं



नए इरादे फिर करने हैं 

कुछ हफ्तों की उम्र शेष है
 नए वर्ष के दिन चढ़ने हैं,
अभी समय है पूरे कर लें
नए इरादे फिर करने हैं  !

फिर से होगा धूम-धड़ाका
नृत्य, पार्टी, आधी रात,
लेन-देन शुभेच्छा का
कट जाएगी अंतिम रात !

जीवन फिर से करवट लेगा
नई मंजिलें राह देखतीं,
उससे पहले जरा निहारें
रह गयी है जो बात अधूरी !







कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें