गुरुवार, जनवरी 19

जो घर खाली दिख जाता है


जो घर खाली दिख जाता है


एक-एक कर चुन डाले हैं
राह के सारे पत्थर उसने,
कंटक चुन-चुन फूल उगाये
हरियाली दी पथ पर उसने !

ऊपर-ऊपर यूँ लगता है
पर भीतर यह राज छिपा है,
वह खुद ही आने वाला है
उस हेतु यह जतन किया है !

जिस दिल को चुनता घर अपना
उसे संवारे सदा प्रेम से,
जो घर खाली दिख जाता है
डेरा डाले वहीं प्रेम से !

उसकी है हर रीत निराला
बड़ा अनोखा वह प्रियतम है,
एक नयन में देता आँसू
दूजे में भरता शबनम है !

वह जो है बस वह ही जाने
हम तो दूर खड़े तकते हैं,
वही पुलक भरता अंगों में
होकर भी हम न होते हैं ! 

10 टिप्‍पणियां:

  1. जिस दिल को चुनता घर अपना
    उसे संवारे सदा प्रेम से,
    जो घर खाली दिख जाता है
    डेरा डाले वहीं प्रेम से !

    इश्वर की लीला है ... सुन्दर प्रस्तुति

    उत्तर देंहटाएं
  2. अनीता जी, लम्बे समय से दिल को पूरी तरह खाली रखने के लिए साधना कर रही हूँ .. फिर भी सफल नहीं हो पायी हूँ ..

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर...
    ऊपर-ऊपर यूँ लगता है
    पर भीतर यह राज छिपा है,
    वह खुद ही आने वाला है
    उस हेतु यह जतन किया है !

    ...बढ़िया :-)

    उत्तर देंहटाएं
  4. जिस दिल को चुनता घर अपना
    उसे संवारे सदा प्रेम से,
    जो घर खाली दिख जाता है
    डेरा डाले वहीं प्रेम से !

    सच है वो तो सदा तैयार खड़ा है हम ही अपना घर खाली नहीं कर पाते......दुनिया का कूड़ा करकट भर कर रखा है |

    उत्तर देंहटाएं
  5. ऊपर-ऊपर यूँ लगता है
    पर भीतर यह राज छिपा है,
    वह खुद ही आने वाला है
    उस हेतु यह जतन किया है !waah

    उत्तर देंहटाएं
  6. वह जो है बस वह ही जाने
    हम तो दूर खड़े तकते हैं,
    वही पुलक भरता अंगों में
    होकर भी हम न होते हैं ! गहन अभिवयक्ति........

    उत्तर देंहटाएं
  7. संगीता जी, अमृता जी, रश्मि जी, विद्या जी, सुषमा जी, व इमरान आप सभी का स्वागत व आभार!

    उत्तर देंहटाएं
  8. एक नयन में देता आँसू
    दूजे में भरता शबनम है !

    यही कहानी जीवन की ....

    उत्तर देंहटाएं
  9. वह जो है बस वह ही जाने
    हम तो दूर खड़े तकते हैं,
    वही पुलक भरता अंगों में
    होकर भी हम न होते हैं ..बहुत गहन अभिव्यक्ति,जीवन यही है..

    उत्तर देंहटाएं
  10. एक नयन में देता आँसू
    दूजे में भरता शबनम है !

    जिंदगी का सच भी यही है.

    उत्तर देंहटाएं