रविवार, अक्तूबर 18

उस देवी की पूजा करें हम

उस देवी की पूजा करें हम  


थामती जो हर  विपद में 

 ज्ञान दीपक पथ दिखाती,

प्राण का आधार भी है 

  रात्रि बन विश्राम देती !


सौंदर्य देवी कहाए

जगत को आकार देती, 

शिव मिलन की प्रेरणा दे 

ले स्वयं कैलाश जाती !


ऊर्जा अपार धारे

अनंत का दर्शन कराती, 

 दात्री बनी सिद्धि रिद्धि

निःशंक जो सदा विचरती !

 

महातपस्विनी जगत मा 

पराम्बा,   महायोगिनी, 

शिव प्रिया,  माँ  महागौरी 

जगत तोषिणी व पोषिणी !

8 टिप्‍पणियां:

  1. नवरात्रि की शुभकामनाएं

    जवाब देंहटाएं
  2. सादर नमस्कार ,
    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगलवार (13-10-2020 ) को "उस देवी की पूजा करें हम"(चर्चा अंक-3860) पर भी होगी,आप भी सादर आमंत्रित हैं।
    ---
    कामिनी सिन्हा

    जवाब देंहटाएं